ईसरलाट जयपुर – मीनार ईसरलाट का इतिहास

ईसरलाट मीनार जयपुर

राजस्थान  के जयपुर में एक ऐतिहासिक इमारत है ईसरलाट यह आतिश के अहाते मे ही वह लाट या मीनार है जो आज तक गुलाबी नगर की आकाश रेखा बनी हुई है। जयपुर वाले इसे सरगा सूली कहते है, किन्तु इसका अधिकृत ओर उपयुक्त नाम ‘ईसरलाट” है।     ईसरलाट का इतिहास हिन्दी में     […]

गोपीजन वल्लभ जी मंदिर जयपुर राजस्थान

गोपीजन वल्लभ जी मंदिर जयपुर

राजस्थान  की राजधानी जयपुर में श्री जी की मोरी में प्रवेश करते ही बांयी ओर गोपीजन वल्लभ जी का मंदिर भी नगर-प्रासाद ओर इस नगर के विशाल और सुन्दर मंदिरों मे से एक है। कहते है कि यह मंदिर पहले निम्बार्क संप्रदाय का था। इस संप्रदाय के 39वे जगदगुरु श्री वृन्दावन देवाचार्य सवाई जयसिंह के […]

ब्रजराज बिहारी जी मन्दिर जयपुर राजस्थान

ब्रजराज बिहारी जी मंदिर जयपुर

राजस्थान  के जयपुर शहर में ब्रजराज बिहारी जी का मंदिर चंद्रमनोहर जी के मंदिर से थोडा आगे जाने पर आता है। यह एकमात्र इमारत है जो जयपुर के विलासी राजा सवाई जगत सिंह (1803-1818 ई) ने बनवाई थी। जयपुर के इस सर्वथा अयोग्य राजा के शासन-काल के पन्द्रह वर्ष बडे घटनापूर्ण थे। इस अवधि में […]

गिरधारी जी का मंदिर जयपुर राजस्थान

श्री गिरधारी जी का मंदिर

राजस्थान  की राजधानी जयपुर में राजामल का तालाब मिट॒टी और कुडे-कचरे से भर जाने के कारण जिस प्रकार तालकटोरा कोरा ताल रह गया, कटोरा न रहा, वैसे ही सिरह ड्योढी बाजार के उत्तरी छोर पर बने हुए गिरधारी जी का मंदिर का भी मंदिर तो रह गया, किंतु इसकी प्रमुख विशेषता जाती रही। यह विशेषता थी […]

गोवर्धन नाथ जी मंदिर जयपुर राजस्थान

गोवर्धन नाथ जी मंदिर जयपुर

राजस्थान  राज्य की राजधानी जयपुर के व्यक्तित्व के प्रतीक झीले जाली-झरोखों से सुशोभित हवामहल की कमनीय इमारत से जुड़ा हुआ जो देवालय है उसे इस नगर के प्रमुख वैष्णव मंदिरो मे गिना जाता है। यह गोवर्धन नाथ जी का मंदिर है।जिसे 1790 ई में हवामहल के साथ ही साथ महाराज सवाई प्रताप सिंह ने बनवाया […]

लक्ष्मण मंदिर जयपुर – लक्ष्मण द्वारा जयपुर

लक्ष्मण मंदिर जयपुर

राजस्थान  की गुलाबी नगरी जयपुर के मंदिरों में लक्ष्मणद्वारा या लक्ष्मण मंदिर भी सचमुच विलक्षण है। नगर-प्रासाद मे गडा की ड्योढ़ी के बाहर वेधशाला के सामने ही लक्ष्मण मंदिर स्थित है, सीताराम मंदिर के दक्षिण-पूर्व में। स्वयं महाराज सवाई जय सिंह ने यह दोनो मंदिर शायद साथ-साथ ही बनवाये थे। दोनो ही मे ऐसे देव-विग्रह […]

ब्रज निधि जी मंदिर जयपुर परिचय और इतिहास

ब्रज निधि मंदिर जयपुर

राजस्थान  में जयपुर वाले जिसे ब्रजनंदन जी का मन्दिर कहते है वह ब्रज निधि का मंदिर है। ब्रजनिधि का मंदिर जयपुर नगर-प्रासाद के चांदनी चौक में स्थित है। यह ‘ब्रज निधि’ उपनाम से काव्य रचना करने वाले महाराजा प्रतापसिंह की भक्ति-भावना का प्रतीक तो है ही, देवालय निर्माण की उस शैली का विशिष्ट प्रतिनिधि भी […]

गोपाल जी मंदिर जयपुर – गंगा-गोपाल जी मंदिर का इतिहास

गंगा - गोपाल जी मंदिर जयपुर

भक्ति-भावना से ओत-प्रोत राजस्थान की राजधानी जयपुर मे मंदिरों की भरमार है। यहां अनेक विशाल और भव्य मदिरों की वर्तमान दशा और शोचनीय अवस्था को देखकर जहां दुख होता है, वहा नगर-प्रासाद की सीमा मे गोविंद देव जी के मन्दिर के पिछवाडे गंगा जी- गोपाल जी के आमने-सामने बने लघु मदिरों को देखने से सचमुच आनन्द […]

गोविंद देव जी मंदिर जयपुर – गोविंद देव जी मंदिर का इतिहास

गोविंद देव जी मंदिर जयपुर

राजस्थान  की राजधानी और गुलाबी नगरी जयपुर के सैंकडो मंदिरो मे गोविंद देव जी मंदिर का नाम दूर-दूर तक श्रृद्धालुओं में प्रसिद्ध है। जो भी हिन्दू यात्री या पर्यटक इस शहर में आता है, वह यहां के अन्य दर्शनीय स्थानों के साथ गोविंद देव जी की झांकी करने के लिए भी अवश्य जाता है। जयपुर […]

सकराय माता मंदिर या शाकंभरी माता मंदिर सीकर राजस्थान हिस्ट्री इन हिंदी

सकराय माता मंदिर के सुंदर दृश्य

राजस्थान के सीकर जिले में सीकर के पास सकराय माता जी का स्थान राजस्थान के प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों में से एक है। मालकेत नामक पर्वतमाला यहां आकर मंडलाकार हो गई है। जिसके बीच बडे बडे आम के पेडों की शीतल छाया है और उनके बीच से शक्रगंगा की पतली धारा बह रही है। जो कही कही […]

एकलिंगजी टेम्पल उदयपुर – एकलिंगजी टेम्पल हिस्ट्री इन हिन्दी

एकलिंगजी टेम्पल के सुंदर दृश्य

राजस्थान के शिव मंदिरों में एकलिंगजी टेम्पल एक महत्वपूर्ण एवं दर्शनीय मंदिर है। एकलिंगजी टेम्पल उदयपुर से लगभग 21 किलोमीटर दूर उदयपुर-नाथद्वारा-ब्यावर के राजमार्ग पर स्थित है। जहाँ के लिए बस सेवा नियमित रूप से उपलब्ध है। यह राजस्थान के प्रमुख मंदिरों में से एक है, औथ बडी संख्या में भक्तों द्वारा एकलिंगजी मंदिर के […]

कैला देवी मंदिर करौली राजस्थान – कैला देवी का इतिहास

कैला देवी मंदिर फोटो

माँ कैला देवी धाम करौली राजस्थान हिन्दुओं का प्रसिद्ध तीर्थ स्थान है। यहा कैला देवी मंदिर के प्रति श्रृद्धालुओं की अपार श्रृद्धा है। लोगों का विश्वास है कि कि माता के दरबार में हर मनौती पूरी होती है। यह स्थान शक्तिपीठों में माना जाता है। वर्ष मे एक बार चैत्र मास में यहां मेला भी […]

श्री महावीरजी टेम्पल राजस्थान – महावीरजी का इतिहास

श्री महावीरजी धाम राजस्थान के सुंदर दृश्य

यूं तो देश के विभिन्न हिस्सों में जैन धर्मावलंबियों के अनगिनत तीर्थ स्थल है। लेकिन आधुनिक युग के अनुकूल जो महत्व श्री महावीरजी तीर्थ तीर्थ स्थल का है। वह अपने आप मे अनूठी तथा मानवीय समता का संदेश देने वाला है। इस स्थान को तीर्थ कहा जाता है। जो किसी विशेषता से कम नहीं है। […]

गलियाकोट दरगाह राजस्थान – गलियाकोट दरगाह का इतिहास

गलियाकोट दरगाह के सुंदर दृश्य

गलियाकोट दरगाह राजस्थान के डूंगरपुर जिले में सागबाडा तहसील का एक छोटा सा कस्बा है। जो माही नदी के किनारे बसा है। जिसे 12वी शताब्दी में भीलों ने एक छोटे गाँव के रूप में बसाया था। उस समय यह गांव चारों ओर से चारदीवारी से घिरा हुआ था। जिसके जीर्णशीर्ण अंश आज भी इस बात […]

सीताबाड़ी का इतिहास – सीताबाड़ी का मंदिर राजस्थान

सीताबाड़ी के सुंदर दृश्य

सीताबाड़ी, किसी ने सही कहा है कि भारत की धरती के कण कण में देव बसते है ऐसा ही एक स्थान भारत के ऐतिहासिक राज्य राजस्थान के बांरा जिले की शाहबाद तहसील के केलवाड़ा गाँव के पास सीताबाड़ी नामक एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थान व तीर्थ है। बडी संख्या में श्रृद्धालु और पर्यटक यहां सीताबाड़ी के […]

शील की डूंगरी चाकसू राजस्थान – शीतला माता की कथा

शील की डूंगरी के सुंदर दृश्य

शीतला माता यह नाम किसी से छिपा नहीं है। आपने भी शीतला माता के मंदिर भिन्न भिन्न शहरों, कस्बों, गावों या अपने आसपास जरूर देखें होगें। वैसे तो शीतला माता के मंदिर भारत के अनेक राज्यों में परंतु हिन्दी भाषी राज्यों जैसे मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा खासकर राजस्थान मे अधिकतर है। राजस्थान मे तो शीतला […]

तेजाजी की कथा – प्रसिद्ध वीर तेजाजी परबतसर पशु मेला

वीर तेजाजी महाराज से संबंधी चित्र

भारत में आज भी लोक देवताओं और लोक तीर्थों का बहुत बड़ा महत्व है। एक बड़ी संख्या में लोग अपने अपने क्षेत्र, राज्य, कुल, समाज, श्रृद्धा अनुसार अपने अपने लोक देवताओं और उनके तीर्थों को मानते है। तथा उनकी स्मृति में समय समय या प्रति वर्ष भव्य मेलों, भंडारों, कीर्तनों, जारगण, अखाडों आदि का आयोजन […]

गोगामेड़ी का इतिहास, गोगामेड़ी मेला, गोगामेड़ी जाहर पीर बाबा

गोगामेड़ी धाम के सुंदर दृश्य

गोगामेड़ी राजस्थान के लोक देवता गोगाजी चौहान की मान्यता राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, हिमाचल, मध्यप्रदेश, गुजरात और दिल्ली जैसे राज्यों में बहुत समय चली आ रही है। लोगों में गोगाजी की मान्यता इसलिए है कि गोगाजी पंथ पीरों मे एक प्रसिद्ध पीर तथा सांपों के देवता माने जाते है। गोगामेड़ी धाम जिसकी चर्चा हम अपने […]

चूरू का इतिहास, किला, पर्यटन, दर्शनीय व ऐतिहासिक स्थलों की जानकारी

चूरू जिले के पर्यटन स्थलों के सुंदर दृश्य

चूरू थार रेगिस्तान के पास स्थित है, चूरू राजस्थान में एक अर्ध शुष्क जलवायु वाला जिला है। जिले को। द गेटवे टू थार ’के नाम से भी जाना जाता है। चूरू शहर जिला मुख्यालय है। इसकी स्थापना 1620 ई। में राजपूतों के निर्बान कबीले द्वारा की गई थी। चूरू भारत की आजादी से पहले बीकानेर […]

हनुमानगढ़ का किला – हनुमानगढ़ ऐतिहासिक स्थल – हनुमानगढ़ पर्यटन स्थल

हनुमानगढ़ पर्यटन स्थलों के सुंदर दृश्य

हनुमानगढ़, दिल्ली से लगभग 400 किमी दूर स्थित है। हनुमानगढ़ एक ऐसा शहर है जो अपने मंदिरों और ऐतिहासिक महत्व के लिए जाना जाता है, यह देखते हुए कि यह कभी सिंधु घाटी सभ्यता का हिस्सा था। क्षेत्र में हालिया उत्खनन से मानव इतिहास के महान महत्व के युग से संबंधित कुछ आश्चर्यजनक कलाकृतियों का […]

झालावाड़ के ऐतिहासिक स्थल – झालावाड़ के टॉप 12 दर्शनीय स्थल

झालावाड़ पर्यटन स्थलों के सुंदर दृश्य

झालावाड़ राजस्थान राज्य का एक प्रसिद्ध शहर और जिला है, जिसे कभी बृजनगर कहा जाता था, झालावाड़ को जीवंत वनस्पतियों और जीवों की समृद्ध प्राकृतिक संपदा के लिए जाना जाता है। हालांकि, राजस्थान के अन्य शहरों के विपरीत, झालावाड़ में एक चट्टानी और पानी वाला क्षेत्र है। लाल पोस्ता के खेत और नारंगी से लदे […]

बारां जिला आकर्षक स्थल – बारां के टॉप पर्यटन, ऐतिहासिक, टूरिस्ट प्लेस

बारां जिले के पर्यटन स्थलों के सुंदर दृश्य

कोटा के खूबसूरत क्षेत्र से अलग बारां राजस्थान के हाडोती प्रांत में और स्थित है। बारां सुरम्य जंगली पहाड़ियों और घाटियों की भूमि है, जहां पुराने खंडहरों,ऐतिहासिक इमारतों को देखा जा सकता है जो एक युग की कहानियों को बताते हैं। यह शहर अपने राम- सीता मंदिरों, शांत पिकनिक स्थलों और जीवंत आदिवासी मेलों और […]

बूंदी इंडिया दर्शनीय स्थल – बूंदी राजस्थान के ऐतिहासिक, पर्यटन स्थल

बूंदी आकर्षक स्थलों के सुंदर दृश्य

बूंदी कोटा से लगभग 36 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक शानदार शहर और राजस्थान का एक प्रमुख जिला है। महलों और किलों के साथ बिंदीदार, जगह के बारे में एक परी कथा की गुणवत्ता है। बूंदी का आकर्षण नारंगी, अमरूद, अनार और आम के पेड़ों से घिरा हुआ है, जो अरावली रेंज और नदियों […]

नागौर के ऐतिहासिक स्थल – नागौर का मौसम, तापमान

नागौर के दर्शनीय स्थलों के सुंदर दृश्य

राजस्थान राज्य के जोधपुर और बीकानेर के दो प्रसिद्ध शहरों के बीच स्थित, नागौर एक आकर्षक स्थान है, जो अपने मसालेदार लाल मिर्च के बाजारों से भरा हुआ है, और यह यहां सालाना आयोजित होने वाले घोडों के मेले (पशु मेले) के लिए भी काफी प्रसिद्ध है। यह नागा क्षत्रियों द्वारा स्थापित किया गया है […]

सवाई माधोपुर आकर्षक स्थल – सवाई माधोपुर राजस्थान मे घूमने लायक जगह

सवाई माधोपुर के दर्शनीय स्थलों के सुंदर दृश्य

सवाई माधोपुर राजस्थान का एक छोटा शहर व जिला है, जो विभिन्न स्थलाकृति, महलों, किलों और मंदिरों के लिए जाना जाता है। एक तरफ अरावली पहाड़ियों और दूसरी तरफ विंध्य पर्वत, से घिरा हुआ, सवाई माधोपुर अपने समृद्ध इतिहास और विरासत का दावा करता है। यदि आप राजस्थान के इस सांस्कृतिक जिले में घूमना चाहते […]

करौली आकर्षक स्थल – करौली राजस्थान के टॉप दर्शनीय स्थल

करौली जिले के दर्शनीय स्थलों के सुंदर दृश्य

करौली राजस्थान राज्य का छोटा शहर और जिला है, जिसने हाल ही में पर्यटकों का ध्यान आकर्षित किया है, अच्छी तरह से सजाई गई हवेलीयां, शांतिपूर्ण मंदिरों, सुरम्य दृश्यों और सुंदर छत्रियों के लिए एक संपूर्ण घर है जो पूरे शहर को पर्यटक आकर्षण का केंद्र बनाते है। राजस्थान में यह सुंदर जिला भारत,के दिल […]

सिरोही का इतिहास – सिरोही पर्यटन स्थल – सिरोही के दर्शनीय स्थल

सिरोही के दर्शनीय स्थलों के सुंदर दृश्य

सिरोही जिला राजस्थान के दक्षिण-पश्चिम भाग में स्थित है। यह उत्तर-पूर्व में जिला पाली, पूर्व में जिला उदयपुर, पश्चिम में जालोर और दक्षिण में गुजरात के बनसकंठा जिले से घिरा हुआ है। सिरोही जिले का कुल भौगोलिक क्षेत्र 5136 वर्ग है। किलोमीटर, जो राजस्थान के कुल क्षेत्रफल का लगभग 1.52 प्रतिशत शामिल है। डुंगरपुर और […]

राजसमंद पर्यटन स्थल – राजसमंद जिले के टॉप 10 ऐतिहासिक व दर्शनीय स्थल

राजसमंद पर्यटन स्थलों के सुंदर दृश्य

राजसमंद राजस्थान राज्य का एक शहर, जिला, और जिला मुख्यालय है। राजसमंद शहर और जिले का नाम राजसमंद झील, 17 वीं शताब्दी में मेवाड़ के राणा राज सिंह द्वारा बनाई गई कृत्रिम झील के नाम पर रखा गया है। राजसमंद जिला का गठन उदयपुर जिले से 10 अप्रैल, 1991 को हुआ था। राजसमंद जिला मेवाड़ […]

टोंक पर्यटन स्थल – टोंक जिले के टॉप 9 दर्शनीय स्थल

टोंक राजस्थान के दर्शनीय स्थलों के सुंदर दृश्य

टोंक राजस्थान की राजधानी जयपुर से 96 किमी की दूरी पर स्थित एक शांत शहर है। और राजस्थान राज्य का एक प्रमुख जिला है, जिसे अफगानिस्तान से ‘पथन’ द्वारा शासित किया गया था। टोंक के पर्यटन स्थलों में सुनहरी कोठी, यानी गोल्डन बंगला है। यह बाहर से एक साधारण साधारण दिखने वाला स्मारक है, किंतु […]

जालोर का इतिहास – जालोर के टॉप पर्यटन, धार्मिक, ऐतिहासिक स्थल

जालोर पर्यटन स्थलों के सुंदर दृश्य

जोलोर जोधपुर से 140 किलोमीटर और अहमदाबाद से 340 किलोमीटर स्वर्णगिरी पर्वत की तलहटी पर स्थित, राजस्थान राज्य का एक खूबसूरत व ऐतिहासिक शहर और जिला है। हाल ही के दिनों में, विशेष रूप से जलोरे जिले में औद्योगिक विकास विश्व प्रसिद्ध ग्रेनाइट टाइल्स और स्लैब के कारण उल्लेखनीय रहा है। वर्तमान में 500 इकाइयां […]