Tag: महाराष्ट्र के मंदिर

सातारा पर्यटन स्थल – सातारा के टॉप 8 दर्शनीय स्थल

सातारा, पंचगनी से 48 किमी की दूरी पर, महाबलेश्वर से 54 किमी, पुणे से 129 किमी कि दूरी पर स्थित है। सातारा महाराष्ट्र में एक शहर और जिला मुख्यालय है। यह कृष्ण नदी, वेणु नदी की एक सहायक नदी के संगम...

रत्नागिरी पर्यटन स्थल – रत्नागिरी के टॉप 15 दर्शनीय स्थल

महाराष्ट्र राज्य की राजधानी मुंबई से 350 किमी दूर, रत्नागिरी एक बंदरगाह शहर है, और महाराष्ट्र के दक्षिण पश्चिम भाग में अरब सागर तट पर रत्नागिरी जिले का जिला मुख्यालय है। रत्नागिरी जिला महाराष्ट्र के कोकण डिवीजन का हिस्सा है। महाबलेश्वर...

नासिक के दर्शनीय स्थल – नासिक के टॉप 20 पर्यटन स्थल

भारत के महाराष्ट्र राज्य की राजधानी मुंबई से 182 किमी दूर , नासिक एक धार्मिक शहर है, जो भारत के महाराष्ट्र के उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र में स्थित है,और नासिक महाराष्ट्र का एक प्रसिद्ध जिला है, तथा जिले का प्रशासनिक मुख्यालय है। महाराष्ट्र...

अहमदनगर पर्यटन स्थल – अहमदनगर के टॉप 10 दर्शनीय स्थल

अहमदनगर भारतीय राज्य महाराष्ट्र में एक जिला है। और अहमदनगर शहर जिले का मुख्यालय भी है। यह सिना नदी के पश्चिमी तट पर स्थित है। जो औरंगाबाद से 114 किमी, पूणे से 110 किमी और महाराष्ट्र राज्य की राजधानी मुंबई से...

अमरावती पर्यटन स्थल – अमरावती के टॉप दर्शनीय स्थल

अमरावती महाराष्ट्र का ऐतिहासिक रूप से समृद्ध जिला है। मध्य भारत में दक्कन पठार पर स्थित, इस जिले ने ब्रिटिश युग के बाद अपना महत्व प्राप्त किया था। महाराष्ट्र राज्य को छह डिवीजनों में बांटा गया है, जिसमें अमरावती उनमें से...

सांगली का इतिहास और सांगली पर्यटन स्थलों की जानकारी हिन्दी में

सांगली महाराष्ट्र राज्य का एक प्रमुख शहर और जिला मुख्यालय है। सांगली को भारत की हल्दी राजधानी भी कहा जाता है। क्यो सांगली भारत में हल्दी उत्पादन का सबसे बडा गढ़ है। सांगली ‘मराठी नाटक का जन्मस्थान भी है। यह कई...

सोलापुर पर्यटन स्थल – सोलापुर के टॉप 6 दर्शनीय,ऐतिहासिक व धार्मिक स्थल

सोलापुर महाराष्ट्र के दक्षिण-पूर्वी हिस्से में स्थित है और राजधानी मुंबई शहर से लगभग 450 किमी की दूरी पर स्थित है। प्राचीन भारत में, यह सोलापुर शहर जैन धर्म के अनुयायियों के लिए एक आध्यात्मिक केंद्र था क्योंकि इसमें मठों की...

पंढरपुर मंदिर दर्शन – पंढरपुर तीर्थ का इतिहास

पंढरपुर मंदिर महाराष्ट्र का प्रधान तीर्थ है। महाराष्ट्र के संतों के आराध्य है श्री पंढरीनाथ। देवशयनी और देवोत्थानी एकादशी को वाराकरी संप्रदाय के लोग यहा यात्रा करने आते है। इस यात्रा को “वारी देना” कहते है। उस समय यहां बहुत भीड़ होती है।...

त्रयम्बकेश्वर महादेव – त्रयम्बकेश्वर ज्योतिर्लिंग – त्रियम्बकेश्वर टेम्पल नासिक

त्रयम्बकेश्वर महादेव मंदिर महाराष्ट्र राज्य के नासिक जिले में स्थित है। नासिक से लगभग 30 किलोमीटर की दूरी पर त्रयम्बकेश्वर बस्ती है। इसी बस्ती में पहाड की तलहटी में गोदावरी नदी के तट पर त्रयम्बकेश्वर महादेव का मंदिर स्थित है। इस...

महाबलेश्वर के दर्शनीय स्थल – महाबलेश्वर व्यू प्वाईंट – महाराष्ट्र का प्रसिद्ध हिल्स स्टेशन

महाराष्ट्र राज्य के प्रमुख हिल्स स्टेशन में महत्तवपूर्ण स्थान रखने वाला महाबलेश्वर अपनी प्राकृतिक सुंदरता के कारण विश्वभर में प्रसिद्ध है। सह्याद्रि पर्वतमाला की गोद में बसा यह रमणीक स्थल समुन्द्र तल से लगभग 1372 मीटर की ऊचांई पर स्थित है।...

भीमशंकर ज्योतिर्लिंग इसके दर्शन मात्र से प्राणी सभी प्रकार के दुखो से छुटकारा पा जाता है भीमशंकर मंदिर की कहानी

भारत देश मे अनेक मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। लेकिन उनमे 12 ज्योतिर्लिंग का महत्व ज्यादा है। माना जाता है कि जो व्यक्ति इन 12 ज्योतिर्लिंग के दर्शन करले उसका कल्याण होता है। इन्ही 12 कल्याणकारी ज्योतिर्लिंग मे से एक...