Read more about the article तामलुक कहां है इतिहास और दर्शनीय स्थल
तामलुक दर्शनीय स्थल

तामलुक कहां है इतिहास और दर्शनीय स्थल

तामलुक पश्चिम बंगाल में गंगा के पूर्व-पश्चिमी डेल्टा पर स्थित है। यह पश्चिम बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर जिले में स्थित एक नगर है, तथा यह पूर्व मेदिनीपुर जिले का मुख्यालय भी है। इसे ताम्रलिप्त भी कहा जाता है। मौर्य पूर्व और मौर्य काल के दौरान यह एक बंदरगाह थी। यहां से दक्षिण-पूर्व एशिया, चीन, बर्मा, जावा, सुमात्रा, कम्बोडिया और रोम के साथ व्यापार किया जाता…

Continue Readingतामलुक कहां है इतिहास और दर्शनीय स्थल
Read more about the article दीघा बीच कहां है – दीघा बीच की जानकारी हिंदी में
दीघा बीच

दीघा बीच कहां है – दीघा बीच की जानकारी हिंदी में

दीघा कलकत्ता से 183 किमी की दूरी पर एक खूबसूरत समुंद्री तट है। प्राकतिक संपदा से भरपूर और छह किमी लंबा यह तट संसार के लंबे समुंद्री तटों में गिना जाता है। यह पश्चिम बंगाल का सबसे लोकप्रिय तट भी है। दीघा बीच के पास दादनपात्र में नमक बनाया जाता है। यहां से लगभग आठ किमी दूर चंदनेश्वर में एक प्राचीन शिव मंदिर है। दस…

Continue Readingदीघा बीच कहां है – दीघा बीच की जानकारी हिंदी में
Read more about the article कूच बिहार का इतिहास – कूच बिहार के दर्शनीय स्थल
कूच बिहार के दर्शनीय स्थल

कूच बिहार का इतिहास – कूच बिहार के दर्शनीय स्थल

कूच बिहार पश्चिम बंगाल राज्य का एक प्रमुख नगर और जिला है, यह जिला मुख्यालय भी है। कूच बिहार यह स्थान न्यू जलपाईगुड़ी के पूर्व में है। पहले इसे कोच बिहार कहा जाता है। सन् 1515 में यहां कोच जन-जाति के विश्वा सिन्हा ने एक शक्तिशाली शासन की स्थापना की थी। वह कामत राज्य का राजा था। उसके बाद उसके पुत्र नर नारायण के काल…

Continue Readingकूच बिहार का इतिहास – कूच बिहार के दर्शनीय स्थल
Read more about the article बैरकपुर छावनी कहां है – बैरकपुर दर्शनीय स्थल
बैरकपुर के दर्शनीय स्थल

बैरकपुर छावनी कहां है – बैरकपुर दर्शनीय स्थल

बैरकपुर पश्चिम बंगाल राज्य के उत्तर 24 परगना जिले में स्थित एक ऐतिहासिक नगर है। यह नगर हुगली नदी के पूर्वी तट पर स्थित है। यह कोलकाता महानगर क्षेत्र के अंतर्गत भी आता है। कोलकाता से बैरकपुर 25 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। बैरकपुर में अंग्रेजी सेना की छावनी हुआ करती थी। 1857 की क्रांति का सर्वप्रथम बिगुल यही से वीर शहीद मंगल पांडे…

Continue Readingबैरकपुर छावनी कहां है – बैरकपुर दर्शनीय स्थल
Read more about the article नादिया के दर्शनीय स्थल – कृष्णानगर पर्यटन स्थल
नादिया के दर्शनीय स्थल

नादिया के दर्शनीय स्थल – कृष्णानगर पर्यटन स्थल

नादिया पश्चिम बंगाल का एक जिला है जिसका जिला मुख्यालय कृष्णानगर है। नादिया सेन राजपूतों की राजधानी थी। मुहम्मद गौरी के सहायक सेनानायक बख्तियार खिलजी ने नादिया पर 1197 ई० में घोड़ों के सौदागर के रूप में उस समय आक्रमण कर दिया, जिस समय यहां का राजा लक्षमण सेन युद्ध के लिए तैयार न था। फलस्वरूप वह यहां से भाग खड़ा हुआ। गौरी ने बंगाल…

Continue Readingनादिया के दर्शनीय स्थल – कृष्णानगर पर्यटन स्थल
Read more about the article पांडुआ का इतिहास – पांडुआ के दर्शनीय स्थल
पांडुआ के दर्शनीय स्थल

पांडुआ का इतिहास – पांडुआ के दर्शनीय स्थल

पांडुआ यह स्थान गोलपाड़ा के निकट है। मध्य काल में यह बंगाल प्रांत का एक हिस्सा हुआ करता था। आजकल पांडुआ भारत के पश्चिम बंगाल राज्य के हुगली ज़िले में स्थित एक शहर है। इसके गौरवशाली इतिहास के कारण यहां कई ऐतिहासिक स्मारक और भवन जो पांडुआ के पर्यटन में मुख्य भूमिका निभाते हैं। पांडुआ का इतिहास - पांडुआ हिस्ट्री इन हिन्दी मुहम्मद…

Continue Readingपांडुआ का इतिहास – पांडुआ के दर्शनीय स्थल
Read more about the article मुर्शिदाबाद का इतिहास – मुर्शिदाबाद के दर्शनीय स्थल
मुर्शिदाबाद के दर्शनीय स्थल

मुर्शिदाबाद का इतिहास – मुर्शिदाबाद के दर्शनीय स्थल

मुर्शिदाबाद यह शहर कलकत्ता से 224 किमी दूर है। और पश्चिम बंगाल राज्य के प्रमुख शहरों में आता है। मुर्शिदाबाद का इतिहास देखने से पता चलता है कि औरंगजेब के समय में आजिम यहां का सूबेदार था। औरंगजेब की मृत्यु के बाद वह अपने दीवान और नाएब सूबेदार मुर्शीद कुली जाफर खाँ को शासन-भार सौंपकर दिल्‍ली चला गया। 1713 में फरुखसियार ने मुर्शीद कुली जाफर…

Continue Readingमुर्शिदाबाद का इतिहास – मुर्शिदाबाद के दर्शनीय स्थल
Read more about the article गौड़ का इतिहास – गौड़ मालदा के दर्शनीय स्थल
गौड़ के दर्शनीय स्थल

गौड़ का इतिहास – गौड़ मालदा के दर्शनीय स्थल

गौड़ या गौर भारत के पश्चिम बंगाल राज्य के मालदा जिले में स्थित एक ऐतिहासिक नगर है। किसी समय गौड़ राज्य हुआ करता था। सातवीं शताब्दी में यहां शशांक का राज्य था। हर्षवर्धन ने उसे कामरूप (आधुनिक असम) के राजा भास्कर वर्मन की सहायता से हरा दिया था। इसके बाद बंगाल के पूर्वी भाग, जिसमें गौड़ पड़ता था, को भास्कर वर्मन ने और पश्चिमी भाग…

Continue Readingगौड़ का इतिहास – गौड़ मालदा के दर्शनीय स्थल
Read more about the article तारापीठ मंदिर का इतिहास – तारापीठ का श्मशान – वामाखेपा की पूरी कहानी
तारापीठ तीर्थ के सुंदर दृश्य

तारापीठ मंदिर का इतिहास – तारापीठ का श्मशान – वामाखेपा की पूरी कहानी

तारापीठ पश्चिम बंगाल के वीरभूमि जिले में स्थित है। यह जिला धार्मिक महत्व से बहुत प्रसिद्ध जिला है, क्योंकि हिन्दुओं के 51 शक्तिपीठों में से पांच शक्तिपीठ वीरभूमि जिले में ही है। बकुरेश्वर, नालहाटी, बन्दीकेश्वरी, फुलोरा देवी और तारापीठ। तारापीठ यहां का सबसे प्रमुख धार्मिक तीर्थ है। और यह एक सिद्धपीठ भी है। यहां पर एक सिद्ध पुरूष वामाखेपा का जन्म हुआ था, उनका…

Continue Readingतारापीठ मंदिर का इतिहास – तारापीठ का श्मशान – वामाखेपा की पूरी कहानी
Read more about the article तारकेश्वर मंदिर – तारकेश्वर महादेव कोलकाता, बाबा तारकनाथ मंदिर
तारकेश्वर मंदिर के सुंदर दृश्य

तारकेश्वर मंदिर – तारकेश्वर महादेव कोलकाता, बाबा तारकनाथ मंदिर

भारत के बंगाल राज्य की राजधानी कोलकाता से 85 किलोमीटर की दूरी पर हुुगली जिले में तारकेश्वर नामक एक प्रमुख शहर है। यह शहर यहां स्थित ताड़केश्वर मंदिर के रूप में काफी प्रसिद्ध है। इस शहर का नाम भी इस मंदिर के ऊपर ही पड़ा है। तारकेश्वर मंदिर भगवान तारकनाथ को समर्पित है, जो भगवान शिव के ही एक रूप है। अपने इस लेख…

Continue Readingतारकेश्वर मंदिर – तारकेश्वर महादेव कोलकाता, बाबा तारकनाथ मंदिर
Read more about the article गंगासागर तीर्थ – गंगासागर का इतिहास – गंगासागर का मंदिर
गंगासागर तीर्थ के सुंदर दृश्य

गंगासागर तीर्थ – गंगासागर का इतिहास – गंगासागर का मंदिर

गंगा नदी का जिस स्थान पर समुद्र के साथ संगम हुआ है। उस स्थान को गंगासागर कहा गया है। गंगासागर तीर्थ एक सुंदर वन द्वीप समूह हैं। जो बंगाल राज्य की दक्षिण सीमा मे बंगाल की खाडी पर स्थिति है। गंगासागर धाम को प्राचीन समय में पाताल लोक के नाम से भी जाना जाता था। मकर सक्रांति को यहा मेला लगता हैं। मेले…

Continue Readingगंगासागर तीर्थ – गंगासागर का इतिहास – गंगासागर का मंदिर
Read more about the article सिलीगुड़ी पर्यटन – सिलीगुड़ी के टॉप 10 दर्शनीय स्थल
सिलीगुड़ी पर्यटन स्थलो के सुंदर दृश्य

सिलीगुड़ी पर्यटन – सिलीगुड़ी के टॉप 10 दर्शनीय स्थल

कभी-कभी हमारी आत्माएं इतनी दुखी होती हैं कि हम अपने बिस्तरों पर रात और दिन रोकर बिताते हैं और दैनिक दिनचर्या हमारे ऊपर कहर बरकरार रखती है। जीवन के ऐसे चरणों के दौरान निरंतर पर्यटन स्थलों की यात्रा करना कोई शरण नहीं देता है। लेकिन मानसिक तनाव को कम जरूर करता है। इसलिए, हम आपको पश्चिम बंगाल में सिलीगुड़ी पर्यटन की यात्रा की सलाह…

Continue Readingसिलीगुड़ी पर्यटन – सिलीगुड़ी के टॉप 10 दर्शनीय स्थल
Read more about the article कोलकाता दर्शनीय स्थल – कोलकाता के टॉप 20 पर्यटन स्थल
कोलकाता के दर्शनीय स्थलो के सुंदर दृश्य

कोलकाता दर्शनीय स्थल – कोलकाता के टॉप 20 पर्यटन स्थल

कोलकाता भारत के पश्चिम बंगाल राज्य की राजधानी है। तथा इसकी गीनती भारत के 4 सबसे बडे महानगरो में की जाती है। कोलकाता को पूर्वी भारत का प्रवेशद्वार भी माना जाता है। कोलकाता दर्शनीय स्थल की फेरहिस्त बहुत लम्बी है। लेकिन हम आपको अपने इस लेख में कोलकाता के टॉप 20 पर्यटन स्थलो की जानकारी हिन्दी में देगें। कोलकाता की सैर करने का अपना…

Continue Readingकोलकाता दर्शनीय स्थल – कोलकाता के टॉप 20 पर्यटन स्थल
Read more about the article कर्सियोंग बाजार के बीचो बीच चलती ट्रेन- कर्सियोग स्कूलो का शहर
कर्सियांग के सुंदर दृश्य

कर्सियोंग बाजार के बीचो बीच चलती ट्रेन- कर्सियोग स्कूलो का शहर

प्रिय पाठको पिछली पोस्टो मे हमने अपनी पश्चिम बंगाल के हिल्स स्टेशनो की यात्रा के दौरान पश्चिम बंगाल के प्रमुख पर्यटन स्थलो दार्जिलिंग, कलिमपोंग तथा मिरिक जैसे सुंदर व मनभावन प्रसिद्ध पर्यटन स्थलो की सैर की और उसके बारे में विस्तार से जाना। इस पोस्ट मे हम अपनी पश्चिम बंगाल टूरिस्ट पैलेस यात्रा के दौरान पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग जिले के प्रसिद्ध व खुबसूरत शहर…

Continue Readingकर्सियोंग बाजार के बीचो बीच चलती ट्रेन- कर्सियोग स्कूलो का शहर
Read more about the article मिरिक झील प्राकृतिक सुंदरता का अनमोल नमूना- tourist place in mirik
मिरिक झील के सुंदर दृश्य

मिरिक झील प्राकृतिक सुंदरता का अनमोल नमूना- tourist place in mirik

प्रिय पाठको पिछली पोस्टो मे हमने पश्चिम बंगाल हिल्स स्टेशनो की यात्रा के दौरान दार्जिलिंग और कलिमपोंग के पर्यटन स्थलो की सैर की और उसके बारे में विस्तार से जाना । इस पोस्ट मे हम अपनी इसी यात्रा के दौरान दार्जिलिंग जिले के एक और खुबसूरत पर्यटन स्थल मिरिक झील की सैर करेगे और उसके बारे में विस्तार से जानेगें। मिरिक पर्वतो की गोद में…

Continue Readingमिरिक झील प्राकृतिक सुंदरता का अनमोल नमूना- tourist place in mirik
Read more about the article कलिमपोंग के पर्यटन स्थल kalimpong tourist place
कलिमपोंग के सुंदर दृश्य

कलिमपोंग के पर्यटन स्थल kalimpong tourist place

प्रिय पाठकों पिछली कुछ पोस्टो मे हमने उत्तरांचल के प्रमुख हिल्स स्टेशनो की सैर की और उनके बारे में विस्तार से जाना। इस पोस्ट मे हम प्रमुख हिल्स स्टेशन कलिमपोंग के पर्यटन स्थल की सैर करेगे और उसके बारे में विस्तार से जानेगें । अब आप सोच रहे होंगे कि कलिमपोंग कहाँ स्थित है। तो हम आपको बता दे कि कलिमपोंग भारत के राज्य पश्चिम…

Continue Readingकलिमपोंग के पर्यटन स्थल kalimpong tourist place
Read more about the article दार्जिलिंग के पर्यटन स्थल – दार्जिलिंग पर्यटन के बारे में
दार्जिलिंग हनीमून डेस्टिनेशन के सुंदर दृश्य

दार्जिलिंग के पर्यटन स्थल – दार्जिलिंग पर्यटन के बारे में

दार्जिलिंग हिमालय पर्वत की पूर्वोत्तर श्रृंखलाओं में बसा शांतमना दार्जिलिंग शहर पर्यटकों को बरबस ही अपनी ओर आकर्षित कर लेता है। लगभग 7000 फुट तक की ऊँची श्रृंखलाओं को काट-काटकर बसा यह ढलवां शहर पर्यटकों के लिए नयनाभिराम दृश्य प्रस्तुत करता है। अत्यंत साफ-सुथरा दार्जिलिंग अपने निश्छल-हृदय निवासियों का प्रतिबिंब है। यह ऐसा शहर है, जिसकी यात्रा के आरंभ-स्थल से ही मन रोमांचित होना…

Continue Readingदार्जिलिंग के पर्यटन स्थल – दार्जिलिंग पर्यटन के बारे में