Tag: उत्तर प्रदेश भ्रमण

नोएडा का इतिहास – नोएडा मे घूमने लायक जगह, पर्यटन स्थल

उत्तर प्रदेश का शैक्षिक और सॉफ्टवेयर हब, नोएडा अपनी समृद्ध संस्कृति और इतिहास के लिए जाना जाता है। यह राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का एक अभिन्न अंग है और इसे कला अवसंरचना और योजनाबद्ध वास्तुकला के लिए जाना जाता है।    ...

बुलंदशहर का इतिहास – बुलंदशहर के पर्यटन, ऐतिहासिक धार्मिक स्थल

नोएडा से 65 किमी की दूरी पर, दिल्ली से 85 किमी, गुरूग्राम से 110 किमी, मेरठ से 68 किमी और लखनऊ से 414 किमी की दूरी पर बुलंदशहर उत्तर प्रदेश में एक शहर और बुलंदशहर जिले का मुख्यालय है। यह दिल्ली...

फतेहपुर सीकरी का इतिहास, दरगाह, किला, बुलंद दरवाजा, पर्यटन स्थल

विश्व धरोहर स्थलों में से एक, फतेहपुर सीकरी भारत में सबसे अधिक देखे जाने वाले स्थानों में से एक है। उत्तर प्रदेश राज्य में आगरा शहर से आसान दूरी पर स्थित, फतेहपुर सीकरी मुग़ल वंश का एक महत्वपूर्ण नमूना है। इस...

एटा का इतिहास – एटा उत्तर प्रदेश के पर्यटन, ऐतिहासिक, धार्मिक स्थल

एटा उत्तर प्रदेश राज्य का एक प्रमुख जिला और शहर है, एटा में कई ऐतिहासिक स्थल हैं, जिनमें मंदिर और अन्य महत्वपूर्ण इमारतें शामिल हैं। एटा के आस-पास भी कई आकर्षक स्थान है, जैसे कि अवागढ़, सकीट और कादिरगंज, जो एटा...

इटावा का इतिहास – हिस्ट्री ऑफ इटावा जिला आकर्षक स्थल

प्रकृति के भरपूर धन के बीच वनस्पतियों और जीवों के दिलचस्प अस्तित्व की खोज का एक शानदार विकल्प इटावा शहर है। इटावा उत्तर प्रदेश का एक प्रसिद्ध जिला और शहर है। चंबल और यमुना नदियों का मनोरम दृश्य पेश करते हुए...

अमरोहा का इतिहास – अमरोहा पर्यटन स्थल, ऐतिहासिक व दर्शनीय स्थल

अमरोहा जिला (जिसे ज्योतिबा फुले नगर कहा जाता है) राज्य सरकार द्वारा 15 अप्रैल 1997 को अमरोहा में अपने मुख्यालय के साथ बनाया गया है। यह जिला तत्कालीन तीन तहसीलों अर्थात अमरोहा, धनौरा और जिला मुरादाबाद के हसनपुर से मिलकर बना...

मुजफ्फरनगर पर्यटन स्थल – मुजफ्फरनगर के टॉप 6 दर्शनीय स्थल

उत्तर प्रदेश भारत में बडी आबादी वाला और तीसरा सबसे बड़ा आकारवार राज्य है। सभी प्रकार के पर्यटक स्थलों, चाहे वह धार्मिक, ऐतिहासिक, सांस्कृतिक या यहां तक ​​कि प्राकृतिक भी उत्तर प्रदेश मे स्थित है। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के...

बिजनौर पर्यटन स्थल – बिजनौर के टॉप 10 दर्शनीय स्थल

बिजनौर उत्तर प्रदेश राज्य का एक प्रमुख शहर, जिला, और जिला मुख्यालय है। यह खूबसूरत और ऐतिहासिक शहर गंगा नदी के तट पर बसा है। बिजनौर शहर हर प्रमुख धर्म के लोगों के लिए उत्तर प्रदेश में एक प्रमुख तीर्थ स्थल...

उन्नाव के दर्शनीय स्थल – उन्नाव के टॉप 5 पर्यटन स्थल

उन्नाव मूल रूप से एक समय व्यापक वन क्षेत्र का एक हिस्सा था। अब लगभग दो लाख आबादी वाला एक शहर, और उत्तर प्रदेश राज्य का एक जिला है। उन्नाव का मौसम नवंबर से फरवरी तक ठंडा रहता है। और इसलिए...

अलीगढ़ के दर्शनीय स्थल – अलीगढ़ के टॉप 6 पर्यटन स्थल,ऐतिहासिक इमारतें

अलीगढ़ शहर उत्तर प्रदेश में एक ऐतिहासिक शहर है। जो अपने प्रसिद्ध ताले उद्योग के लिए जाना जाता है। यह ऐतिहासिक शहर 1803 की अलीगढ़ की प्रसिद्ध लड़ाई के लिए प्रसिद्ध है। जिसमें मराठो और अंग्रेजों के बीच अधिग्रहण को लेकर...

सीतापुर के दर्शनीय स्थल – सीतापुर के टॉप 5 पर्यटन स्थल व तीर्थ स्थल

सीतापुर – सीता की भूमि और रहस्य, इतिहास, संस्कृति, धर्म, पौराणिक कथाओं,और सूफियों से पूर्ण, एक शहर है। हालांकि वास्तव में सीतापुर शहर की स्थापना कब हुई थी, यह सुनिश्चित नहीं किया जा सकता है, सीतापुर का मुस्लिम राज्यों, सूफी संतों...

पीलीभीत के दर्शनीय स्थल – पीलीभीत के टॉप 6 पर्यटन स्थल

उत्तर प्रदेश के लोकप्रिय ऐतिहासिक और धार्मिक स्थानों में से एक पीलीभीत है। नेपाल की सीमाओं पर स्थित है। यह जिला एक विशाल क्षेत्र में फैला हुआ है जहां और बहुमत में घने जंगलों से ढका हुआ है। एक मजबूत ऐतिहासिक...

कुशीनगर के दर्शनीय स्थल – कुशीनगर के टॉप 7 पर्यटन स्थल

कुशीनगर उत्तर प्रदेश राज्य का एक प्राचीन शहर है। कुशीनगर को पौराणिक भगवान राजा राम के पुत्र कुशा ने बसाया और इस पर शासन किया था। उसी के नाम पर इसका नाम कुशीनगर पडा। शहर में पुरातत्व निष्कर्ष तीसरी शताब्दी ईसा...

प्रेम वंडरलैंड एंड वाटर किंगडम मुरादाबाद

पश्चिमी उत्तर प्रदेश का मुरादाबाद महानगर जिसे पीतलनगरी के नाम से भी जाना जाता है। अपने प्रेम वंडरलैंड एंड वाटर किंगडम पार्क के लिए काफी प्रसिद्ध है। मुरादाबाद एक विकासशील आधुनिकता की ओर आग्रसर महानगर है। मुरादाबाद के मेडिकल सिटी भी...

चित्रकूट धाम की महिमा मंदिर दर्शन और चित्रकूट दर्शनीय स्थल

चित्रकूट धाम वह स्थान है। जहां वनवास के समय श्रीराजी ने निवास किया था। इसलिए चित्रकूट महिमा अपरंपार है। यह सदा से ही तपो भूमि रही है। महर्षि अत्रि का आश्रम यही था। आस पास बहुत से ऋषि- मुनि रहते थे।वहां...