कोंच का इतिहास आर्थिक व सामाजिक दशा

कोंच का इतिहास

उत्तर प्रदेश राज्य के जालौन जिले में कोंच नगर स्थित है, यह जिले में एक तहसील है जोकि जालौन जनपद का दक्षिणी पश्चिमी चौथाई भाग है तथा यह 25°-51° और 26°-15° उत्तरी अक्षांश एवं 78°-56° और 79°18° पूर्वी देशान्तर के मध्य बसा हुआ है। यहाँ पर यह भी उल्लेखनीय है कि कोंच नगर जो कि उरई […]

अक्षरा देवी सिद्ध पीठ कहां है – अक्षरा सिद्ध पीठ का इतिहास

अक्षरा देवी सिद्ध पीठ सैदनगर

अक्षरा देवी सिद्ध पीठ उत्तर प्रदेश के जालौन जिले के उरई नगर से 26 किलोमीटर की दूरी पर सैदनगर में स्थित है। सिद्ध नगर जिसे अब सैदनगर के नाम से जाना जाता है उरई झाँसी राजमार्ग पर एट कस्बे से अक्षरा देवी सिद्ध पीठ तक पहुँचने के लिए रास्ता जाता है। सिद्धपीठ की त्रिगुणात्मक शक्ति से […]

भैरव जी मंदिर रामपुरा जालौन उत्तर प्रदेश

भैरव जी मंदिर रामपुरा

उत्तर प्रदेश राज्य के जालौन जिले में भैरव जी मंदिर रामपुरा से 3 कि०मी० दूर दक्षिण पश्चिम दिशा में स्थित है यह मन्दिर मन्दिर के अवशेषों के साथ इसके आस-पास अन्य भी अवशेष हैं जो यहाँ पर पुराने भवनों के होने का संकेत देते हैं। इसी भैरव जी मन्दिर के उत्तर पूर्व की ओर एक विशाल […]

माधौगढ़ का रामेश्वर मन्दिर जालौन उत्तर प्रदेश

रामेश्वर मंदिर माधौगढ़

रामेश्वर मन्दिर माधौगढ़ कस्बे के रामस्वरूप लाला के बाग में स्थित है। माधौगढ़ उत्तर प्रदेश के जालौन जिले का एक प्रसिद्ध नगर है। पहले यह स्थान नजर बाग के नाम से जाना जाता था जो कि माधौगढ़ के राजा माधौसिंह की सम्पत्ति था। रामेश्वर मंदिर माधौगढ़ में बहुत प्राचीन काल से है। लोगों में मंदिर के […]

करण खेड़ा मंदिर जालौन – करण खेड़ा का इतिहास व दर्शनीय स्थल

करण खेड़ा मंदिर जालौन

करण खेड़ा वर्तमान में जालौन जिले में नवगठित माधौगढ़ तहसील के ग्राम जगम्मनपुर के उत्तर पूर्व में लगभग 3 किलोमीटर दूर में स्थित है इस करण खेड़ा के उत्तर में लगभग 2 किलोमीटर दूर यमुना की कल कल करती जल धारा बहती है। यह स्थान श्री श्री 1008 बजरंगदास महाराज के स्थान के लिए जाना जाता […]

द्वारकाधीश मंदिर जालौन उत्तर प्रदेश

द्वारकाधीश मंदिर जालौन

द्वारकाधीश मंदिर जालौन नगर के मुरली मनोहर नामक मुहल्ले में स्थित है यह उत्तर प्रदेश का प्रसिद्ध मंदिर है । द्वारकाधीश मन्दिर जालौन का निर्माण सन 1880 से 1885 के बीच सेठ चतुर्भुज दास मारवाड़ी पुत्र श्री नत्थूलाल मारवाड़ी द्वारा कराया गया। सेठ चतुर्भुज दास, ग्राम बाउली से गोद आये थे। इनके पूर्वज मूल रूप […]

खुर्रम शाह दरगाह कोंच या तकिया खुर्रम शाह कोंच जालौन

खुर्रम शाह दरगाह कोंच

अल्लाताला के एक मजनू थे। वली खुर्रम शाह जिन्हें खुदा की बख्शी तमाम रूहानी ताकतें हासिल थी जिनके जरिये वो अवाम में खुशियाँ बाँटते फिरते थे। उन्हीं की यादगार में उन्हीं की रूहानी ताकतों से भरापूरा यह खुर्रम शाह दरगाह उत्तर प्रदेश के जालौन जिले के कोंच के आजाद नगर मुहल्ले में बना है। जहां बड़ी […]

बारह खंभा कोंच – बारह खंभा का इतिहास

बारह खंभा कोंच

उत्तर प्रदेश के जालौन जिले में कोंच नगर के मुहल्ला भगत सिंह नगर में यह बारह खंभा भवन स्थित हैं तथा इसके बगल में एक राम तलइया स्थित हैं और राम तलइया के बगल में मुहाल आराजी लाइन में आठ खंभा स्थित हैं। बारभ खंभा एक ऐतिहासिक इमारत है।     बारह खंभा का इतिहास   […]

पातालेश्वर मंदिर कालपी धाम जालौन उत्तर प्रदेश

पातालेश्वर मंदिर कालपी धाम

जालौन  जिले के कालपी नगर में यमुना नदी के दक्षिणी किनारे पर कालपी किले के पश्चिमी भाग पर यह पातालेश्वर मन्दिर स्थित है । इस पातालेश्वर नाम के शिवलिंग की अत्याधिक मान्यता है। यह शिवाला किलागिर्द मुहाल में किले के समीप बना हुआ है जिसमें शिवजी की मूर्ति कुछ निचाई में स्थित है जहाँ बहुत […]

कुम्भज ऋषि कौन थे – कुम्भज ऋषि आश्रम जालौन

कुम्भज ऋषि

उत्तर प्रदेश के जनपद जालौन की कालपी तहसील के अन्तर्गत उरई से उत्तर – पूर्व की ओर 32 किलोमीटर की दूरी पर ग्राम कुरहना बसा हुआ है। इस ग्राम के विषय में यह जनश्रुति है कि कुम्भज ऋषि का आश्रम यहीं पर था।     कुम्भज ऋषि का इतिहास   महाभारत में कुम्भज ऋषि का वर्णन […]

सूर्य मंदिर कालपी – कालपी सूर्य मंदिर का इतिहास

सूर्य मंदिर कालपी

सूर्य मंदिर जालौन जिले में कालपी के पूर्व की ओर स्थित ग्राम गुलौली में विद्यमान था। आज उसके भग्नावशेष रह गये हैं। यह गुलौली ग्राम यमुना के दक्षिणी किनारे पर बसा हुआ है। विश्व के सभी देशों में सूर्य की मान्यता आदि काल से चली आ रही है।आदि मानव ने भी किसी न किसी रूप में […]

श्री बटाऊ लाल मंदिर कालपी जालौन उत्तर प्रदेश

श्री बटाऊ लाल मंदिर कालपी

श्री बटाऊ लाल मंदिर कालपी नगर के मुहल्ला अदल सराय जालौन उत्तर प्रदेश में स्थित है। यह मंदिर महाबली हनुमान जी को समर्पित है। हनुमान जी के एक अन्य नाम बटाऊ लाल से ख्याति प्राप्त यह अत्यन्त सिद्ध स्थान है। बड़ी संख्या में श्रद्धालु यहां मनोकामनाएं पूर्ति हेतु आते हैं।     श्री बटाऊ लाल मंदिर […]

पाहूलाल मंदिर कालपी – पाहूलाल मंदिर का इतिहास

पाहूलाल मंदिर कालपी

उत्तर प्रदेश के जालौन जिले की कालपी तहसील के कालपी नगर में मुहल्ला अदल सराय में पाहूलाल मंदिर स्थित है। वर्तमान में यह मुहल्ला बड़ा बाजार नाम से जाना जाता है। परन्तु अदल सराय कालपी के प्राचीन 52 मुहल्लों में से एक था। इस मंदिर का निर्माण श्री पाहूलाल खत्री द्वारा किया गया था अतः इसे […]

चौरासी गुंबद कालपी – चौरासी गुंबद का इतिहास

चौरासी गुंबद कालपी

चौरासी गुंबद यह नाम एक ऐतिहासिक इमारत का है। यह भव्य भवन उत्तर प्रदेश राज्य के जालौन जिले में यमुना नदी के दक्षिणी तट पर बसी कालपी नगरी के दक्षिणी किनारे पर कालपी उरई रोड पर स्थित है। यह चौरासी गुंबद अत्यन्त प्राचीन है। चौरासी गुंबद कालपी की ऐतिहासिक इमारतों में से एक उल्लेखनीय इमारत है। […]

मदार साहब की दरगाह – मदार साहब का इतिहास

मदार साहब का चिल्ला

जालौन जिले के कालपी नगर को फकीरों और पीरों का शहर माना जाता है। यहाँ पर पीरों के पीर मदार साहब थे। जिन्हें बदरूद्दीन शाह अली के नाम से जाना जाता है । कालपी के विख्यात मुहल्ला मदारपुरा में इनकी मदार साहब की दरगाह है। जिसे मदार साहब का चिल्ला के नाम से भी जाना जाता […]

गणेश मंदिर कालपी – गणेश मंदिर का इतिहास

गणेश मंदिर कालपी

उत्तर प्रदेश के जालौन जिले के कालपी नगर के गणेश गंज मुहल्ले में गणेश मंदिर कालपी स्थित है। गणेश मंदिर कालपी रेलवे स्टेशन से लगभग दो ‘फर्लांग की दूरी है। गणेश गंज मुहल्ला कालपी के प्राचीन 52 मुहल्लों में से एक है। यह गणेश मंदिर कालपी के प्रमुख दर्शनीय स्थलों में से एक है।     […]

पराशर ऋषि का आश्रम व मंदिर – पराशर ऋषि का जीवन परिचय

पराशर ऋषि आश्रम

जालौन  जिले की कालपी तहसील के अन्तर्गत जीवन दायिनी विन्ध्यगिरि पुत्री वेत्रवती (वेत॒वा) के तट पर बसे एक छोटे से ग्राम का नाम है परासन या परसन। परासन एवं इसके आसपास का क्षेत्र तपोनिष्ठ एवं पावन क्षेत्र है। इस पंचकोसीय क्षेत्र में परिक्रमा करके लोग पुण्य के भागीदार बनते हैं क्‍योंकि यह क्षेत्र मार्कण्डेय ऋषि, […]

रोपड़ गुरू मंदिर इटौरा कालपी – श्री रोपड़ गुरु मंदिर का इतिहास

श्री रोपड़ गुरु मंदिर अकबरपुर इटौरा

उत्तर प्रदेश राज्य के जालौन जनपद की कालपी तहसील में बसे एक ग्राम का नाम है “गुरू का इटौरा है। यह ग्राम कालपी से दक्षिण की ओर 8 मील तथा उरई से उत्तर पूर्व की ओर 16 मील की दूरी पर बसा हुआ है। ‘गुरू का इटौरा ” नाम स्वतः यह इंगित करता है वह इटौरा […]

काली हवेली कालपी – क्रांतिकारी मीर कादिर की हवेली

काली हवेली कालपी

उत्तर प्रदेश के जालौन जिले के ऐतिहासिक कालपी नगर के महमूद मुहल्ले में काली हवेली स्थित है। यह महमूदपुरा मुहल्ला कालपी के प्राचीन 52 मुहल्लों में से एक है। यह हवेली अब वर्तमान में इमामबाड़ा के रूप में उपयोग में लाई जा रही है।     काली हवेली का इतिहास     यह काली हवेली नसीरूद्दीन […]

सुभानगुंडा की हवेली – हजरत शेख अहमद नागौरी दरगाह

सुभानगुंडा की हवेली

जालौन जिले के कालपी में मुहल्ला हरीगंज में ये सुभानगुंडा की हवेली स्थित है । कालपी किले के पश्चात्‌ काली देवी का मन्दिर पडता है उससे आगे बढ़ने पर बहुत से खण्डहर दिखाई पडते है। वही उनमें से एक प्रसिद्ध भवन सुभानगुंडा की हवेली है। हवेली सुभानगुंडा के नाम से जाने वाले भवन का निर्माण शेख […]