गोपाल जी मंदिर जयपुर – गंगा-गोपाल जी मंदिर का इतिहास

भक्ति-भावना से ओत-प्रोत राजस्थान की राजधानी जयपुर मे मंदिरों की भरमार है। यहां अनेक विशाल और भव्य मदिरों की वर्तमान दशा और शोचनीय अवस्था को देखकर जहां दुख होता है, वहा नगर-प्रासाद की सीमा मे गोविंद देव जी के मन्दिर के पिछवाडे...

गोविंद देव जी मंदिर जयपुर – गोविंद देव जी मंदिर का इतिहास

राजस्थान  की राजधानी और गुलाबी नगरी जयपुर के सैंकडो मंदिरो मे गोविंद देव जी मंदिर का नाम दूर-दूर तक श्रृद्धालुओं में प्रसिद्ध है। जो भी हिन्दू यात्री या पर्यटक इस शहर में आता है, वह यहां के अन्य दर्शनीय स्थानों के...

रामप्रकाश थिएटर जयपुर – रामप्रकाश नाटकघर का इतिहास

राजस्थान  की राजधानी जयपुर में जयसागर के आगे अर्थात जनता बाजार के पूर्व में सिरह ड्योढ़ी बाजार मे खुलने वाला रामप्रकाश थिएटर कभी इस गुलाबी शहर जयपुर की एक अलग ही शान था। साहित्याचार्य भट्ट मथुरानाथ शास्त्री ने इस नगर के...

ईश्वरी सिंह की छतरी – महाराज सवाई ईश्वरी सिंह

बादल महल के उत्तर-पश्चिम मे एक रास्ता ईश्वरी सिंह की छतरी पर जाता है। जयपुर के राजाओ में ईश्वरी सिंह के साथ उसकी वीरता, गुण-ग्राहकता और कला-प्रेम के बावजूद जो कुछ बीती उसे विधि का विधान मानकर ही सब्र करना पडता है।...

जनता बाजार जयपुर और जय सागर का इतिहास

राजा के नाम पर बन कर भी जयपुर जनता का शहर है। हमारे देश में तो यह पहला नगर है जो मूलत जनता के स्वस्थ आवास- प्रवास, जीविकोपार्जन एव वाणिज्य-व्यवसाय तथा सुरुचि और सौन्दर्य-बोध को सर्वोच्च प्राथमिकता देकर नियोजित और निर्मित हुआ।...