गुरु अंगद देव जी का इतिहास – गुरु अंगद देव जी का जीवन परिचय

श्री गुरु अंगद देव जी महाराज सिखों के दूसरे गुरु थे। गुरु नानक देव जी ने इन्हीं को अपना उत्तराधिकारी बनाकर गुरु गद्दी सौपी थी। इनका मूल नाम लहणा था। जिसको बदलकर गुरू नानक देव जी ने इन्हें अंगद देव नाम...

गुरु नानकदेव जी का जीवन परिचय – गुरु नानकदेव जी के उपदेश

साहिब श्री गुरु नानकदेव जी का जन्म कार्तिक पूर्णिमा वि.सं. 1526 (15 अप्रैल सन् 1469) में राय भोइ तलवंडी ग्राम जिला शेखूपुरा जिसे आजकल ननकाना साहिब कहा जाता है (वर्तमान में पाकिस्तान में है), में श्री कल्याण दास जी (मेहता कालू...

नाड़ा साहिब गुरूद्वारा पंचकूला हरियाणा चंडीगढ़

नाड़ा साहिब गुरूद्वारा चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन से 5किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं। नाड़ा साहिब गुरूद्वारा हरियाणा प्रदेश के पंचकूला जिले में झझर नदी के तट पर स्थापित है। गुरु गोविंद सिंह ने भंगाणी की तरफ जाते समय यहां पर कुछ...

बूंदी राजपूताना की वीर गाथा – बूंदी राजस्थान राजपूताना

केतूबाई बूंदी के राव नारायण दास हाड़ा की रानी थी। राव नारायणदास बड़े वीर, पराक्रमी और बलवान पुरूष थे। उनके वीरत्व व पराक्रम की बहुत सी आख्यायिकाएँ राजपूताने में कही जाती है, परंतु जहां उनमे अनेक प्रशंसनीय गुण थे, वहां उनमें...

संत नामदेव महाराष्ट्र के प्रसिद्ध संत

मानव में जब चेतना नहीं रहती तो परिक्रमा करती हुई कोई आवाज जागती है। धरा जब जगमगाने लगती है, तो दिव्य ज्योति सम्भूत कोई न कोई शक्ति प्रकट होती है। परिस्थितियां जब प्रतिकूल हो जाती है, तो किसी न किसी अनूकूल...

कमला देवी चट्टोपाध्याय की जीवनी – स्वतंत्रता सेनानी

श्रीमती कमला देवी चट्टोपाध्याय आज के युग में एक क्रियाशील आशावादी और विद्रोहिणी नारी थी। इनके आदर्शों की व्यापकता जीवनपथ पर अग्रसर होने के लिए कुछ निश्चित सिद्धांत और बिना किसी साधन एवं सहायता के एक विशाल जनसंगठन के आयोजन का...

राजकुमारी अमृत कौर का जीवन परिचय – राजकुमारी अमृत कौर बायोग्राफी

श्री राजकुमारी अमृत कौर वर्तमान युग की उन श्रेष्ठ नारी विभूतियों में से एक है। जिन्होंने राजनीतिक क्षेत्र में भाग लेकर अपने देश को गौरव और सम्मान प्रदान किया है। अगस्त सन् 1947 को जब भारत स्वतंत्र राष्ट्र घोषित हुआ तो...

अमृता शेरगिल का जीवन परिचय – अमृता शेरगिल बायोग्राफी, चित्र, पेंटिंग इन हिन्दी

चित्रकला चित्रकार के गूढ़ भावों की अभिव्यंजना है। अंतर्जगत की सजीव झांकी है। वह असत्य वस्तु नहीं कल्पना की वायु से पोषित नहीं, ठोस और ध्रुव सत्य है। उसमें जीवन का वैभव और सत्य सौंदर्य निहित है। कला में कलाकार का...

विजयलक्ष्मी पंडित निबंध – स्वतंत्रता सेनानी श्रीमती विजयलक्ष्मी पंडित की जीवनी

“आज तक हमारा काम परदेशी नीवं के भवन को गिराना रहा है, परंतु अब हमें अपना भवन बनाना है, जिसकी ईटें हम और आप है। हम जितने सशक्त होगें उतना ही दृढ़ यह हमारा भवन होगा, पर यदि हम दुर्बल रहे...

सती उर्मिला राजा धर्मगजदेव की पत्नी की सतीत्व की कहानी

सती उर्मिला अजमेर के राजा धर्मगज देव की धर्मपत्नी थी। वह बड़ी चतुर और सुशील स्त्री थी। वह राज्य कार्य को भली प्रकार समझती थी। यद्यपि धर्मगज देव की और बहुत सी रानियां थी, परंतु राजा सबसे ज्यादा इन्हीं को चाहते...

अयोध्या का युद्ध – अयोध्या का ऐतिहासिक संघर्ष हिस्ट्री इन हिन्दी

हमनें अपने पिछले लेख चंद्रगुप्त मौर्य और सेल्यूकस का युद्ध मे चंद्रगुप्त मौर्य की अनेक बातों का उल्लेख किया था। और यह बताया था कि उसने किस तरीके से देश के एक बड़े भाग पर अपना शासन कायम किया था और...

खैबर की जंग – खैबर की लड़ाई – महमूद गजनवी और अनंगपाल का युद्ध

खैबर दर्रा नामक स्थान उत्तर पश्चिमी पाकिस्तान की सीमा और अफ़ग़ानिस्तान के काबुलिस्तान मैदान के बीच हिन्दुकुश के सफ़ेद कोह पर्वत शृंखला में स्थित एक प्रख्यात दर्रा है। यही वह स्थान है जहाँ पर खैबर की जंग हुई थी। खैबर दर्रा...

हूणों का आक्रमण – हूणों का इतिहास – भारत में हूणों का शासन

देश की शक्ति निर्बल और छिन्न भिन्न होने पर ही बाहरी आक्रमण होते है। आपस की फूट और द्वेष से भारत सदा निर्बल रहा है। और इसी प्रकार के अवसरों पर बाहरी आक्रमणकारियों ने देश का सर्वनाश किया है। अपने इस लेख...

शकों का आक्रमण – शकों का भारत पर आक्रमण, शकों का इतिहास

शकों का आक्रमण भारत में प्रथम शताब्दी के आरंभ में हुआ था। शकों के भारत पर आक्रमण से भारत में शकों का प्रभुत्व बढ़ता गया। और उन्होंने अनेक राज्य अपने अधिकार में कर लिये थे। शकों का भारत पर आक्रमण भारत...

चंद्रगुप्त मौर्य और सिकंदर का युद्ध – सेल्यूकस और चंद्रगुप्त का युद्ध

चंद्रगुप्त मौर्य और सिकंदर का युद्ध ईसा से 303 वर्ष पूर्व हुआ था। दरासल यह युद्ध सिकंदर की मृत्यु के बाद उसके सेनापति सेल्यूकस और चंद्रगुप्त के बीच हुआ था। इसलिए इसको सही तौर पर सेल्यूकस और चंद्रगुप्त मौर्य का युद्ध...