पठानकोट पर्यटन – पठानकोट के टॉप 5 दर्शनीय स्थलो की रोचक जानकारी

पठानकोट शहर नूरपुर के पथानी राजपूत राज्य की राजधानी थी। अपने भौगोलिक स्थान के कारण, पठानकोट पंजाब, जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के तीन राज्यों का केंद्र बिंदु है। पठानकोट पर्यटन के सुंदर स्थान और राजपूतों की सांस्कृतिक विरासत ने इस शहर को एक अच्छी तरह से पर्यटक पर्यटन स्थल बना दिया है। शहर रवि और चक्की नदियों और हिमालय की शिवालिक पर्वत से घिरा हुआ है। पठानकोट भारत के दो सबसे खुबसूरत और पर्यटन प्रधान प्रदेशो जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश का प्रवेशद्वार भी है। इन राज्यो की यात्रा पर जाने वाले पर्यटको का विश्राम गृह भी है। यहा अच्छे होटलो के साथ खाने पीने की भी अच्छी व्यवस्था है। जम्मू कश्मीर और हिमाचल की यात्रा पर जाने या आने वाले यात्री जब यहा विश्राम करते है तो इस विश्रामगृह शहर में उनके मन में पठानकोट के दर्शनीय स्थलो या पठानकोट के पर्यटन स्थलो तथा पठानकोट के आकर्षक स्थलो की सैर का भी मन में अक्सर ख्याल आता है। और वो अपनी यात्रा की शुरूआत या समापन पठानकोट की सैर और पठानकोट के भ्रमण के साथ करना पसंद करते है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम आपको पठानकोट के टॉप 5 दर्शनीय स्थलो के बारे में नीचे विस्तार से बता रहे है। जिनका भ्रमण करके आप अपनी जम्मू कश्मीर और हिमाचल की डलहौजी, धर्मशाला जैसी खुबसूरत यात्रा का समापन या शुरूआत कर सकते है।

 

पठानकोट पर्यटन स्थलो के सुंदर दृश्य
पठानकोट पर्यटन स्थलो के सुंदर दृश्य

 

पठानकोट पर्यटन स्थल – पठानकोट के दर्शनीय स्थल

 

पठानकोट के टॉप 5 आकर्षक स्थल

 

मुक्तेश्वर मंदिर

पठानकोट पर्यटन स्थलो के सुंदर दृश्य
मुक्तेश्वर मंदिर पठानकोट

यह एक गुफा मंदिर है, जो हिंदू देवता भगवान शिव को समर्पित हैं और रवि नदी के तट पर स्थित हैं। कहा जाता है कि गुफाओं का उपयोग पांडवों द्वारा निर्वासन में अपने अंतिम वर्ष के दौरान रहने के लिए किया जाता था। मुक्तिश्वर मंदिर एक पहाड़ी के ऊपर स्थित है और इसमें एक संगमरमर शिव लिंग और एक तांबा योनी शामिल है। ब्रह्मा, विष्णु, हनुमान, पार्वती और गणेश के विभिन्न हिंदू देवताओं की मूर्तियां लिंग के चारों ओर स्थित हैं। यह स्थान पठानकोट पर्यटन स्थलो में काफी पर्सिद्ध है।

 

नूरपुर का किला

पठानकोट पर्यटन स्थलो के सुंदर दृश्य
नुरपूर किला पठानकोट

नुरपूर का किला को पहले धामेरी किले के रूप में जाना जाता था और यह 10 वीं शताब्दी में बनाया गया था। किले को अंग्रेजों द्वारा नष्ट कर दिया गया था और फिर 1905 में यह भूकंप से क्षतिग्रत हो गया था। राज स्वामी नामक किले के अंदर मंदिर 16 वीं शताब्दी में बनाया गया था और यह उन स्थानों में से एक माना जाता है जहां भगवान कृष्ण और मीरा बाई की मूर्तियो की पूजा की जाती है।

 

हमारे यह लेख भी जरूर पढे:–

डलहौजी के दर्शनीय स्थल

चंबा हिमाचल प्रदेश के दर्शनीय स्थल

धर्मशाला के पर्यटन स्थल

मानेसर लेक जम्मू

जम्मू कश्मीर के पर्यटन स्थल

गुलमर्ग पर्यटन स्थल

पहलगाम के पर्यटन स्थल

पंजाब के दर्शनीय स्थल

 

रंजीत सागर बांध

पठानकोट पर्यटन स्थलो के सुंदर दृश्य
रंजीत सागर डैम पठानकोट

बांध पंजाब राज्य सरकार की जलविद्युत परियोजना का हिस्सा है और 2001 में पूरा हुआ था। रंजीत सागर बांध को थिएन बांध भी कहा जाता है और रवि नदी पर बनाया गया है। बांध अपने शानदार हरे परिवेश के साथ एक महान पिकनिक स्थान है। यह पठानकोट पर्यटन में पिकनिक स्पॉट के रूप में जाना जाता है।

 

शाहपुर किंडी किला

पठानकोट पर्यटन स्थलो के सुंदर दृश्य
शाहपुर कुंडी किला पठानकोट

16 वीं शताब्दी में निर्मित शाहपुरकिंडी किला पठानकोट में एक प्रसिद्ध किला है। किला एक रणनीतिक सैन्य किला था जो अब पर्यटकों के लिए एक विश्राम घर के रूप में कार्य करता है। यह रवि नदी के तट पर स्थित है और शहर के कुछ अद्भुत दृश्य प्रदान करता है। किला जम्मू-कश्मीर और पठानकोट राज्य के संगम पर स्थित है।

काठगढ़ मंदिर
काठगढ़ मंदिर भगवान शिव और पार्वती को समर्पित है और इसकी प्राचीन उत्पत्ति के साथ एक प्राचीन लिंग द्वारा विशेषता है। माना जाता था कि भगवान भगवान राम की खोज के दौरान भरत ने इसका दौरा किया था। मंदिर बीस और चंच नदी के संगम पर स्थित है। मंदिर एक रोमन स्टाइल वास्तुकला में अद्भुत रूप से बनाया गया है।

 

पठानकोट पर्यटन, पठानकोट के पर्यटन स्थल, पठानकोट के टॉप 5 दर्शनीय स्थल, पठानकोट की यात्रा, पठानकोट भ्रमण आदि शीर्षको पर आधारित हमारा यह लेख आपको कैसा लगा हमे कमेंट करके जरूर बताएं। यह जानकारी अपने दोस्तो के साथ सोशल मीडिया पर भी शेयर करे। यदि आपके आस पास कोई ऐसा पर्यटन स्थल, धार्मिक स्थल, या ऐतिहासिक स्थल है जिसकी जानकारी आप पर्यटको को देना चाहते है तो उसके बारे में आप कमेंट बॉक्स में लिख सकते है। आपके द्वारा दी गई सटीक जानकारी को हम अपने बलॉग में मुख्य रूप से शामिल करेगें