नवाब फैज मोहम्मद खान भोपाल रियासत

नवाब फैज मोहम्मद खान का मकबरा भोपाल

नवाब यार मोहम्मद खान के पाँच पुत्र थे। सब से बढ़े पुत्र का नाम फैज मोहम्मद था। मसनद के लिये फिर झगड़ा खड़ा हुआ। भोपाल रियासत में एक पार्टी ऐसी थी जो पदच्युत नवाब सुल्तान मोहम्मद खान को मसनद पर बैठाना चाहती थी। दूसरी पार्टी नवाब फैज मोहम्मद खान के पक्ष में थी। इन दोनों में परस्पर खूब झगड़ा हुआ।

 

 

आखिर में स्वर्गीय नवाब यार मोहम्मद खान की विधवा बेगम ममोला बीबी और रियासत के दीवान विजयराम ने बीच में पड़ कर यह समझौता करवाया कि, नवाब सुलतान मोहम्मद को रियासत में जागीर दे दी जावे और वह मसनद का हक छोड़ दे। यह समझौता दोनों पार्टियों ने मंजूर कर लिया।

 

नवाब फैज मोहम्मद खान का मकबरा भोपाल
नवाब फैज मोहम्मद खान का मकबरा भोपाल

 

नवाब फैज मोहम्मद खान भोपाल रियासत के तीसरे नवाब

 

नवाब फैज मोहम्मद खान जो इस वक्त नवाबी की मसनद पर थे, वे भोपाल रियासत के तीसरे नवाब थे, वे अत्यधिक धार्मिक प्रवृत्ति के थे, वह अपना बहुत सा समय ईश्वर की भक्ति में लगाते थे, भोपाल रियासत के राजकाज की ओर उनका ध्यान विशेष न था। जिसके चलते भोपाल रियासत में अव्यवस्थाएं फैल गई। इन अव्यवस्थाओं को सुधारने के लिए उन्होंने राज्य के शासन-सूत्र का भार अपनी माता ममोला बीबी और अपने वजीर पर डाल दिया। और खुद अपने धार्मिक कर्मकांडो में व्यस्त रहने लगे। बेगम ममोला बीबी और वजीर के शासन सूत्र के समय में भोपाल राज्य पर मरहठों के कई हमले हुए और इनमें भोपाल रियासत का बहुत सा मुल्क मरहठों के
हाथ चला गया।

 

 

इसवी सन्‌ 1777 में नवाब फैज मोहम्मद खान की मृत्यु हो गई। भोपाल रियासत के तीसरे नवाब के तौर पर नवाब फैज मोहम्मद खान ने भोपाल रियासत की गद्दी पर आसीन सन् 1742 से ईसवी सन् 1777 तक राज किया। उनके राज्य शासन के दौरान भोपाल रियासत कोई खास उन्नति न कर सकी बल्कि अपना बहुत सा मुल्क मरहठों के कब्जे में ले दिया। नवाब फैज मोहम्मद खां के कोई पुत्र नहीं था उनकी मृत्यु के बाद उनके भाई नवाब हयात मोहम्मद खान भोपाल रियासत की गद्दी पर बैठे।

 

 

हमारे यह लेख भी जरूर पढ़े:—

 

 

उदयपुर राज्य का इतिहास
इस पुण्य भूमि भारत के इतिहास में मेवाड़ के गौरवशाली उदयपुर राज्य के राजवंश का नाम बड़ें अभिमान के साथ Read more
भोपाल रियासत
मध्य भारत में भोपाल रियासत प्रथम श्रेणी की एक महत्वपूर्ण रियासत है। यहाँ के राज्यकर्ता मुसलमान हैं। भोपाल रियासत का इतिहास Read more
यार मोहम्मद खान चित्र उपलब्ध नहीं
भोपाल रियासत के संस्थापक व भोपाल रियासत के प्रथम नवाब दोस्त मोहम्मद खान थे, सन् 1726 में दोस्त मोहम्मद खान Read more
नवाब दोस्त मोहम्मद खान
भोपाल रियासत के मूल संस्थापक का नाम नवाब दोस्त मोहम्मद खान है। आपने सन् 1708 में अफगानिस्तान के खैबर प्रान्त Read more
इंदौर राज्य
इंदौर राजवाड़ा का इतिहास — सभी पाठक जानते है कि औरंगजेब के भीषण अत्याचारों के खिलाफ़ महाराष्ट्र में एक महाप्रबल शक्ति Read more
मैसूर राज्य
भारतवर्ष के देशी राज्यों में मैसूर राज्य अत्यन्त प्रगतिशील समझा जाता है। यहाँ के सुशिक्षित और प्रजा-प्रिय नरेश की कृपा Read more
कश्मीर राज्य
कश्मीर राज्य प्रकृति देवी का लीला-निकेतन है। प्रकृति ने अपनी सारी शक्ति के साथ इस स्थान को सुन्दर बनाने का Read more
त्रावणकोर रियासत
भारतवर्ष की अति प्रगतीशील रियासतों में त्रावणकोर रियासत का आसन बहुत ऊँचा है। अपनी प्रजा का मानसिक, बौद्धिक और आर्थिक Read more
हैदराबाद रियासत
भारत में हैदराबाद रियासत सबसे बड़ी रियासत थी। पर यह उतनी प्राचीन नहीं है जितनी भारत की अन्य रियासतें है। Read more
बड़ौदा रियासत
जिस समय मुगल साम्राज्य का सितारा अस्ताचल की ओर जा रहा था, उस समय महाराष्ट्र में एक नई शक्ति का Read more

write a comment

%d bloggers like this: