जमदग्नि आश्रम मेला जमानियां गाजीपुर उत्तर प्रदेश

जमदग्नि आश्रम मेला

गाजीपुर  जिले में जमानिया एक तहसील है जिसका नामकरण जमदग्नि ऋषि के नाम पर यहा उनका आश्रम होने के कारण किया गया है। कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर जमदग्नि आश्रम मेला लगता है। यहां परशुरामजी का भव्य मंदिर भी है जहां अक्षय तृतीया को मेला लगता है। इस प्रकार यहां दो भव्य मेले लगते है। लोग इसे जमनिया का मेला भी कहते है।

 

 

जमदग्नि आश्रम मेला का महत्व

 

 

जमदग्नि ऋषि आश्रम जमनिया का यह स्थान हिन्दू धर्म के लोगों के लिए एक पवित्र तीर्थ स्थल है। क्योंकि जमदग्नि ऋषि भगवान परशुराम जी के पिता थे। और भगवान परशुराम जी भगवान विष्णु के दस अवतारों में से एक थे। इसके अलावा जमदग्नि ऋषि हिन्दू धर्म के साथ महान ऋषियों यानी सप्तऋषियों में से एक है। इसीलिए इस स्थान का महत्व अत्यधिक समझा जाता है। यहां पर भगवान परशुराम जी मंदिर भी है। परशुराम जयंती पर नगर में भव्य शोभायात्रा निकाली जाती है।

 

जमदग्नि आश्रम मेला
जमदग्नि आश्रम मेला

 

जमदग्नि आश्रम मेला अवसर पर यहा दर्शन, पूजन, गंगा रमान, भजन, कीर्तन, प्रवचन, यज्ञ, सास्कृतिक आयोजन, कजरी, विरह्ठ, चैता, फाग भी होता है। मेला बड़े ही भव्य तरीके से भरता है। बड़ी संख्या में मनोरंजन के साधन होते हैं जिनमें छोटे बड़े झूले होते है। मौत का कुआं और सर्कस जिसमें हैरतअंगेज करतब देखने को मिलते हैं। वहीं हंसी का फुवारा जहां हंस हंस कर लोटपोट कर देता है तो दूसरी तरफ भूत बंगला डरावना अहसास करता है।

 

 

इसके अलावा मेले में लगी विभिन्न प्रकार की महिलाओं के सिंगार के समान की दुकानें नवयुवतियों और विवाहित महिलाओं को आकर्षित करती है तो दूसरी तरफ खेल खिलौने की दुकानें छोटे छोटे बच्चों को खुब आकर्षित करती है। इसके अलावा जमदग्नि आश्रम मेला में स्वादिष्ट व्यंजनों और चाट कचौरी स्नैक्स आदि की विभिन्न दुकानें स्वाद के शौकीन लोगों को खुब आकर्षित करती है।

 

 

मेला दो तीन दिन बड़ी भव्यता के साथ चलता है, हालांकि यह बात अलग है कि मेला दो तीन दिन पहले से ही दुकानें लगनी शुरू हो जाती है, और दो तीन दिन बाद तक दुकानें हटती है, इस दौरान भी मेला मध्यम गति से चलता रहता है। प्रशासन की ओर से मेले में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम होते हैं। यहा भी यातायात, सम्देश वाहन, आवास की सामान्य सुविधाए उपलब्ध है।

 

 

हमारे यह लेख भी जरूर पढ़े:—

 

 

write a comment

%d bloggers like this: