कामशेत – पैराग्लाइडिंग के लिए प्रसिद्ध स्थल – यहा आप पक्षियो जैसे उडने का अनुभव कर सकते है।

प्रिय पाठको पिछली पोस्ट मे हम ने महाराष्ट्र के प्रसिद्ध हिल्स स्टेशन खंडाला और लोनावाला की सैर की थी और उसके बारे में विस्तार से जाना। इस पोस्ट मे हम महाराष्ट्र के ही एक और खुबसूरत स्थल कामशेत की सैर करेगें और उसके बारे में विस्तार से जानेगें।

दोस्तो जब हम नीले आसमान में किसी पक्षी को उडते हुए देखते है। तो हमारे मन में भी उसी की तरह उडान भरने की लालसा जाग उठती और हमारा मन करता है। कि काश हम भी इस पंछी की तरह इस मस्त गगन मे उडते। और हमारा मन कुछ यूँ गुनगुनाने लगता है- ” पंछी बनू उडती फिरू मस्त गगन मे! आज मे आजाद हुं दुनिया के चमन में ” हिन्दी फिल्म की यह प्रसिद्ध पंक्तियां हमारा मन गुनगुनाने लगता है। आज के इस टैक्नोलोजी के युग में कुछ भी असंभव नही है। आप पंछी की तरह उडान भर सकते है। जिसको पैराग्लाइडिंग कहते है। भारत में पैराग्लाइडिंग के लिए बहुंत से उपयुक्त स्थान है। जहा आप पैराग्लाइडिंग कर सकते है। इस पोस्ट मे हम आपको भाऱत के दो प्रमुख शहरो मुम्बई और पूना के पास पैराग्लाइडिंग के लिए प्रसिद्ध खुबसूरत स्थल कामशेत की जानकारी हिन्दी मे देंगे।

कामशेत पैराग्लाइडिंग
कामशेत पैराग्लाइडिंग

कामशेत पैराग्लाइडिंग

कामशेत खंडाला और लोनावाला के जुडवा हिल स्टेशन से लगभग 11 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। कामशेत की समुन्द्र तल से ऊचाई 2100 फीट के लगभग है। इसका इतिहास यहा के पहाडो ने बनाया है। कभी स्वतंत्रा प्रेमी छापामार योद्धाओ को उत्पन्न करने के लिए जाने जाने वाले पहाड अब निर्भय पैराग्लाइडिंग पायलटो तथा रोमांच प्रेमियो के समूह की मेजबानी करते है। कामशेत पैराग्लाइडिंग के लिए बेहद लोकप्रीय है। देश विदेश के कोने कोने से रोमांच प्रेमी यहा पैराग्लाइडिंग का मजा लेने के लिए आते है। यदि आप यह सेचते रहे है। कि पक्षियो की नजर कैसी होती है। तो आपको एक बार पैराग्लाइडिंग जरूर करनी चाहिए। पैराग्लाइडिंग ज्यादा मुश्किल नही है। इसे आप आसानी से सीख सकते है। इसके लिए कामशेत और भारत के लगभग सभी प्रमुख पैराग्लाइडिंग स्थलो पर प्रशिक्षण की विशेष व्यवस्था है। यदि आप केवल पैराग्लाइडिंग का आनंद लेना चाहते है। तो आप टैंडमराइट कर सकते है। इसमे आपके साथ एक अनुभवी पायलट होता है। जो कि पैराग्लाइडिंग करता है। आप केवल उसके साथ होते है।

कामशेत के दर्शनीय स्थल

कांडेश्वर मंदिर :- कामशेत के अन्य पर्यटन स्थलो मे यह मंदिर बेहद प्राचीन है। यह मंदिर पोहारा जंगलों के बीच मे भगवान शिव को समर्पित है। घने जंगलों से घिरा यह मंदिर सैलानीयो को दूर से ही आकर्षित करता है। महाशिवरात्रि वाले दिन यहा भारी संख्या मे श्रद्धालु आते है। इसके आलावा यह जगह पिकनिक मनाने के लिए भी उपयुक्त स्थान है।

मुंबई के पर्यटन स्थल

वाडीवली झील :- 

यह एक कृत्रिम झील है। समुन्द्र तल से लगभग 2200 फीट की ऊचाई पर स्थित यह एक सुंदर व मनोरम स्थल है। इस झील के द्धारा उक्सन बांध को पानी दिया जाता है।

कामशेत कब जांए

यहा साल भर मे कभी भी जाया जा सकता है। लेकिन पैराग्लाइडिंग का सीजन अक्टूबर से शुरू होता है और जून तक चलता है।

कैसे पहुँचे

रेल मार्ग :- कामशेत से निकटतम रेलवे स्टेशन लोनावाला है जो यहा से लगभग 16 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

सडक मार्ग:- मुम्बई और पूणे से यहा आसानी से जाया जा सकता है।

 

write a comment